TUESDAY, DECEMBER 18,2018
Logo
Image

कम समय में युद्ध जीतने के लिए जरूरी है तीनों सेनाओं की संयुक्त योजना: धनोआ 

18/Nov/2018    National

नई दिल्ली, 18 नवंबर (वि.स)- वायुसेना चीफ बीएस धनोआ ने एयरफोर्स, नेवी और आर्मी के बीच समन्वय के लिहाज से काम किए जाने को महत्वपूर्ण करार दिया है। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि तीनों सेनाओं के बीच संयुक्त योजना के लिए संस्थागत अवसंरचना जरूरी है ताकि किसी युद्ध को कम से कम समय में जीता जा सके। धनोआ ने कहा कि सेना के तीनों अंगों को सुरक्षा को लेकर किसी भी चुनौती से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए सामंजस्यपूर्ण रुख अपनाना होगा। उन्होंने कहा कि एयर फोर्स जॉइंट प्लानिंग के समर्थन में है। वायुसेना प्रमुख ने कहा, देशों द्वारा एक-दूसरे पर थोपे जा सकने वाले विभिन्न तरह के खतरों की परिस्थिति में सेना का कोई भी अंग पूरी तरह अकेले खुद के दम पर युद्ध नहीं जीत सकता।’ एअर चीफ मार्शल ने कहा, ‘इसलिए यह जरूरी है कि सेना के तीनों अंग संयुक्त योजना को बढ़ावा दें और न्यूनतम संभावित समय में युद्ध जीतने में मदद के लिए सहयोगी सेवाओं की शक्तियों का लाभ उठाएं। सरकार और सेना के तीनों अंगों के बीच चर्चा होती रही है कि क्या भारत को एकीकृत युद्ध क्षेत्र कमानों का मॉडल अपनाना चाहिए, जहां तीनों सेवाओं की श्रम शक्ति और परसंपत्तियां एक अधिकारी की कमान के अधीन होंगी। अमेरिका तथा कई पश्चिमी देशों ने यह मॉडल अपना रखा है।